ईवी एक्सपो के 15वें संस्करण की शुरुआत

नयी दिल्ली। देश के लगभग 100 राष्ट्रीय तथा अन्तराष्ट्रीय इलेक्ट्रिक वाहन कंपनियां राजधानी में ईवी एक्सपो के 15वें संस्करण में अपने प्रदूषण रहित नवीनतम दो, तीन, चार पहियां ई-वाहनों को प्रदर्शित कर रही हैं। एक्सपो में लिथियम आयन बैटरीज और नवीनतम चार्जिंग समाधानों को भी पेश किया जा रहा है।पर्यावरण के अनुकुल इस तीन दिवसीय इलेक्ट्रिक वाहन प्रौद्योगिकी मेले ईवी एक्सपो का उद्घाटन सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय के राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा ने किया और इसका आयोजन प्रगति मैदान के हॉल नंबर 11 में 5-7 अगस्त के बीच हो रहा है।श्री वर्मा ने कहा,“अभी तक हमारी सड़कों पर इलेक्ट्रिक वाहनों की मात्रा केवल 0.35 प्रतिशत है, लेकिन निकट भविष्य में इसका उपयोग तेजी से बढ़ने वाला है। एमएसएमई क्षेत्र में लाखों छोटी छोटी इकाइयाँ काम कर रही हैं और देश के सकल घरेलू उत्पाद में लगभग 30 प्रतिशत का योगदान दे रही हैं। इसमें 11 करोड़ से अधिक लोग कार्यरत हैं। वे ईवी उद्योग में योगदान कर सकते हैं। मैं इस क्षेत्र में काम कर रहे उद्यमियों और एमएसएमई इकाइयों से ईवी उद्योग को तेजी से आगे ले जाने का आग्रह करता हूं, क्योंकि भविष्य में इलेक्ट्रिक वाहनों की मांग और उपयोग कई गुना बढ़ जाएगा।”सरकार की इलेक्ट्रिक वाहन समिति के अध्यक्ष और ईवी एक्पो के सह-संस्थापक अनुज शर्मा ने कहा,“केंद्र सरकार की जैसे-जैसे फेम-II सब्सिडी समाप्त होती जा रही है। मुझे लगता है कि राज्य सरकारों को आगे आना चाहिए। जैसे गुजरात सरकार दोपहिया वाहनों पर 20,000/- रुपये की सब्सिडी दे रही है और दिल्ली मैं 15,000/- रुपये की सब्सिडी मिल रही है। विभिन्न प्रदेशों ने जो अपनी ईवी पालिसी बनाई है उसके लिए हमने सबसे आग्रह किया है। सभी राज्य दो और तीन पहिया ईवी पर क्रमशः 15000 / – और 20,000 / – सब्सिडी ले कर आएं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.