मायावती ने छत्तीसगढ़ की घटना की तुलना लखीमपुर कांड से की, कहा-दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उप्र की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बीते शुक्रवार को छत्तीसगढ़ में वाहन से भीड़ को कुचलने की घटना की तुलना लखीमपुर खीरी कांड से करने के साथ ही दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है। मुख्यमंत्री मायावती ने ट्वीट किया कि शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के में दुर्गा मां की प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान भीड़ को कार से कुचलने से हुई एक व्यक्ति की मौत व अनेकों के घायल होने की घटना दुखद है। उन्होंने कहा कि यह तो ऐसी घटना है जो कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की घटना की याद ताजा करती है। मायावती ने कहा कि कांग्रेस की सरकार सभी पीड़ित परिवारों को आर्थिक मदद व नौकरी दे। बसपा की इसके साथ ही मांग है कि सभी दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो।इसके साथ ही बसपा प्रमुख ने दिल्ली सिंघु बॉर्डर पर पजंाब के एक दलित युवक की नृशंस हत्या को अति-दुखद व शर्मनाक बताया है। बसपा नेत्री ने कहा कि पुलिस घटना को गंभीरता से लेते हुए दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करे। उन्होंने कहा कि बसपा की मांग है कि पंजाब के दलित सीएम भी लखीमपुर खीरी की तरह पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपए की मदद व सरकारी नौकरी दें। विदित हो कि छत्तीसगढ़ में जशपुर जिले के पत्थलगांव में शुक्रवार को मां दुर्गा की मूर्ति विसर्जन के लिए निकाले गए जुलूस में तेज रफ्तार वाहन (महिंद्रा क्वांटो) घुस गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिकओडिशा की ओर से आ रहा तेज रफ्तार वाहन जुलूस के बीच घुस गया और लोगों को रौंदते हुए आगे निकल गया। इसके बाद वाहन सड़क से उतरकर खेत में चला गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपितों को गिरफ्तार लिया था। वहीं इसकी चपेट में आने से पत्थलगांव निवासी गौरव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीन लोगों ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.