हापुड़ में मार मार कर अधमरा कर मेरठ में मरा समझ कर फेंक गए दामाद को




मेरठ। मेरठ के मकबरा अब्बू थाना मेरठ के रहने वाले मो वसीम को हापुड़ में रहने वाले उसके ससुराल वालों ने लाठी डंडों और धारदार हथियारों से बुरी तरह मारा और मरा समझ कर मेरठ में फेंक कर फरार हो गए जिसे गंभीर हालत में मेरठ पुलिस अस्पताल में भर्ती कराया,लेकिन हापुड़ जिले का मामला होना बात कर रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया।जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहा वसीम पिछले पांच सालों से अपने ससुराल हापुड़ में ही रह रहा था।
मेरठ के अस्पताल में तीन दिन तक आई सी यू में रहने के बाद कल जब उसको होश आया तो तो अपने साथ हुई इस घटना की जानकारी अपने भाई नदीम को दी।नदीम पुलिस और जिलाधिकारी को पत्र लिख कर मुकदमा पंजीकृत करने की मांग की है।नदीम ने पुलिस को लिखे पत्र में कहा है कि
मैं प्रार्थो नदीम पुत्र स्व० इसहाक निवासी मकबरा अब्बू थाना रेलवे रोड मेरठ का रहने वाला हूं। दिनातः 10-9-2020 को रात्रि लगभा 10.30 बजे मेरा भाई मो वसीम जो पिछले 5 वर्षों से अपनी ससुराल हापुड़ मे रहता है वह बदहवास व जकमी हालत में घर पर आया और कहने लगा कि मुझे मेरो ससुराल वालो ने मारा है फिर हमने पूलिस को 112 नम्बर पर सूचना दी जिस पर थाना रेलवे रोड को पुलिस ने मेरे भाई बसोम को प्यारे लाल अस्पताल में भर्ती करा दिया तब मेरा भाई पूरी तरह ते होश मे नही था अब वह जब होश आया है तो उसने मुझे बताया कि दिनांक 10-9-2020 को सुबह 8 बजे के करीब मेरी पलो श्रीमति आशमा से मेरी कहा सुनी हो गयो थी फिर मैं काम पर चला गया और जब में रात्रि को अपने घर पर आया तो मेरी पत्नी आशमा,सास पप्पी,ससुर अयूब, साले आंसू,इरफान और वाहिद पहले से घर पर मौजूद थे ,इन सभी लोगो ने लाठी डंडे और धारदार हथियारों से बुरी तरह मारा।
मारने के बाद मुझे कार में लेकर मेरे घर मेरठ को चल दिये । यह रास्ते में भी मेरे साथ मारपीट करते हुऐ आये पिर मुझे मकबरा डिग्गी सडक पर फेककर भाग गये
नदीम ने मेरठ पुलिस से मांग की है कि उसका मुकदमा मेरठ में ही पजीकृत किया जाए,और उसके भाई का बयान दर्ज किया जाए,उसके भाई वसीम की हालत अच्छी नही है,ऐसी हालत में वह हापुड़ नही जा सकता है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.