एलएसीसे बीजिंग तक डोवाल की नजर कर सकते हैं अहम बैठक




नई दिल्ली । एलएसीपर तनाव बरकरार है और भारत- चीन की सेना आमने-सामने है। ताजा हालात को लेकर भारत अब नई नीति के तहत काम कर रहा है।चीन की नई चाल पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नजर बनाए हुए हैं।

अजित डोवाल ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात कर उन्हें चीन की सैन्य और कूटनीतिक साजिश के बारे में पूरी तरह अवगत कराया। इस बीच सूत्रों से खबर आ रही है कि अजित डोवाल चीन से तनाव पर चाइना स्टडी ग्रुप की बैठक कर सकते हैं। इस बैठक में भारत-चीन के बीच कमांडर स्तर की बातचीत के लिए भारत का एजेंडा तय किया जाएगा। कोर कमांडर स्तर की यह बैठक अगले हफ्ते हो सकती है। इस बैठक के लिए विदेश मंत्री डॉ जयशंकर के मॉस्को यात्रा से वापस लौटने का इंतजार किया जा रहा है। उनके आते ही सीएसजी की अहम बैठक हो सकती है। चीन के मसले पर भारत का इरादा साफ है। न तो वह चीन के झांसे में आएगा और न ही धौंस बर्दाश्त करेगा। भारत की मजबूत इच्छाशक्ति और सही रणनीति का कमाल है कि चीन आज बैकफुट पर है। बता दें कि अजित डोवाल ने कुछ दिनों पहले चीन के विदेश मंत्री से बातचीत की थी। तब चीन ने तनाव कम करने का वादा किया था लेकिन अब पीछे हटने की बजाए चीन घुसपैठ लगातार घुसबैठ की नई-नई साजिशें रचता है। इसके बाद से भारत भी चीन को उसी के अंदाज में जवाब देने में लग गया है।









Leave a Reply

Your email address will not be published.