बच्चों को पढ़ाई के अलावा किताबें भी पढ़ने को दें




अभिभावक बच्चों की पढ़ाई को लेकर परेशान रहते हैं और उनपर बेहतर प्रदर्शन का दबाव डालते हैं। यह कुछ हद तक सही है पर केवल पढा़ई से ही बच्चों का पूरा विकास नहीं हो सकता। तेजी से बढ़ते जमाने के साथ चलने के लिए उन्हें अन्य क्षेत्रों की भी जानकारी दें। आम तौर पर अधिकांश अभिभावकों को लगता है कि बच्चे स्मार्ट और तेज दिमाग ज्यादा पढ़ाई करने से बनते हैं लेकिन पढ़ाई के अलावा भी बहुत सी ऐसी चीजें हैं जो बच्चे को समझदार और तेज दिमाग बनाती हैं। जिसके लिए माता-पिता को कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।

स्कूल की किताबों के अलावा बच्चों को स्टोरी बुक्स पढ़ने की आदत डालें। कहानी की किताब पढ़ने से बच्चों का दिमाग क्रिएटिव बनता है। साथ ही बच्चे समझदार भी बनते हैं.
बच्चों को साथ बिठाकर होमवर्क करवाएं। बच्चों से एक दोस्त की तरह बात करें, उनकी परेशानियों को जानने की कोशिश करें। साथ ही जीवन में उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें।
अपने बच्चे को आउटडोर गेम्स खेलने पर जोर दें क्योंकि मैदान में जाकर खेलने से बच्चा शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनता है। इससे बच्चे की सेहत तो अच्छी रहती ही है साथ ही दिमाग भी तेज होता है।
बच्चे को ज्यादा टीवी देखने ना दें क्योंकि बच्चे टीवी प्रोग्राम में इतने ज्यादा खो जाते हैं कि वो घंटों तक टीवी के आगे ही बैठे रहते हैं जिससे उनका मानिसक विकास नहीं हो पाता है। 2 साल की उम्र से पहले बच्चे को टीवी से दूर ही रखें।
अधिकतर लोगों को कहते सुना होगा कि बच्चा वही सीखता है जो दूसरों को करते देखता है. इसलिए बच्चे के सामने आप भी ज्यादा से ज्यादा सक्रिय रहें, किताबें पढ़ें, एक्सरसाइज करें, क्रिटिव चीजें करें, ताकि बच्चे पर सकारात्मक असर पड़े।
घर के छोटे-मोटे कामों में बच्चे से मदद लें थोड़े बहुत उनके काम उन्हें खुद से करने दें इससे उनमें आत्मविश्वास पैदा होगा और चीजों को लेकर उनमें सही समझ आएगी।









Leave a Reply

Your email address will not be published.